Bhojpuri dard bhare shyari


रात में जागल मत कर् सूत लीहल कर्,
अइसहीं मन में आँसू मत रोकल कर् रो लिहल कर्..!
हमरा ईयाद में त हरमेसे रहेलस गुमसुम,
कबो कबो अपनो के ईयाद कर् लिहल कर्..!!



दरद दे के दरद बढावल ना जाला,
दीप जलाके दीप बुझावल ना जाला..!
प्रेम केतनो बढ़ी पर बेगाना ना होई,
दिल लगाके दिल हटावल ना जाला..!!



घुट घुट के भितरे भितरे दर्द के लोर पी रहल बानी,
कागज कलम के सँघतिया बना के होठवा के सी रहल बानी..!
मन होला मर जइतीं उनके चौकठ पर जा के,
उनकर बदनामी के डर से आज ले जी रहल बानी..!!


जिनिगी अब पहाड़ जइसन लागे लगल बा
सुखला में बाढ़ जइसे लागे लगल बा..!
कुछुओ कहाँ बा आपन अब, सब झूठीये के भरम बा
साँसो अब उधार जइसन लागे लगल बा..!!



तू का बुझअ का होला तनहाई, तू का जनबअ का होला बेवफाई..!
हई टूटल पाटीये से पुछअ का होला जुदाई, अरे अब केतना जुलम सहीं जालीम..
ई रतीये से पुछअ कब तहार याद ना आईल..!!



चढते फगुनवा जियरा जरि गईल हो..!
हमार सजना सनेहिया बिसार गईलन हो..!!


सब तरहे क सिकवा सह लेही ला,
जिनगी य़ेही तरे जी लेही ला..!
मिला लेही ला हाथ जेसे दोस्ती क,
ओइ हाथ से फिर जहरो पीये पड़ेला..!!



अईसन परिंदन के कईद कईल हमार फितरत नईखे..!
जे हमरा दिल के पिंजरा में रहके भी केहू आउर के संग उड़े क शउख रखे..!!


काहो नींद अब त आवल करअ, केहू नईखे अब हमरा पास..!
जेकरा खातीर तहरा के छोड़ले रहीं,
ऊ त अब छोड़ के चल गईनी..!!


ई उदास कोहरा पे सवार हवे,
हमार बे-पनाह अश्क़न क बरसात..!
ई अऊर बात हवे, कि तक़दीर हमरा से लिपट के रोवलस,
बाकी ...... बाज़ू त तहरा देख के ही फैलईले रहीं..!!



बहुते परेशान बानी तहार नोकरी से ऐ ज़िनगी..!
ठीक त ईहे होई कि तू हमारो हिसाब क द..!!



काश कि ई आंसुवन के साथ तहार याद भी बह जात..!
त एक दिन तस्सली से बईठ के रो लेंती..!!


उजरल घर में अब केके ढूँढ़त बाड. तु..!
बरबाद भईला पर ओकर ठिकाना ना रहेला..!!


तनहा रहल त मोहबबत करे वाला क रशम-वफा हवे..!
अगर फूल खुशी खातिर होत त केहू जनाजा पर नाही डालत..!!



रूह समाईल बा ई देह में, देह इ जहान में फसल बा..!
ज़िंनगी ईहे सिलसिला से बस आगे बढ़ रहल बा..!!


हमके कब चाह रहे कि हमके ऊ चाँद मिले य़ा असमान मिले..!
खाली एगो तमन्ना रहे की हमार ऊ सपना के जहाँ मिले..!!


मुस्कुरा जे छुपा लेला आपन आंसू..!
अपने हालत से ऊ गैरन के भी रुला देला..!!


नजर चुरावे ल तु काहे भला..!
केहू अपने ही चीज़ चुरावे ला का..!!


खालीयो शिशा मे निशान रह जाला,
टूटल दिल मे भी अरमान रह जाला..!
जवन खामोशी से गुजर जाला,
उ दरिय़ा भी आपन दिल मे तूफान राखेला..!!



मौसम क मिसाल देही या तोहार..!
केहू पूछत बा कि बदले केकरा आवेला..!!


ई फूलन मे अब उ महक कहॉ,
इ राह क अब कवनो मंजिल कहॉ..!
क लेती हम मोम अगर केहू पत्थर दिल होत त,
पर इहां त केहू में इंसानी दिल बा कहॉ..!!




बीना बतवले उ ना जाने काहे हमसे दूरी क लिहलन,
बिछड. के ऊ हमार मुहबबत अधूरे छोर दिहलन..!
हमरे मुककदर में खाली गम बा त का भइल,
खुदा उनकर खवाइस त पुरा कर दिहलन..!!



टूटल जब सपना त के सुनी ई सिसकी..!
अन्तर क ई चीर व्यथा पलकन पर ठिठकल बा..!!



दिलासा देके अब आउर ना सम्हाल हमके,
अईसन मखमली तूफान में न पाल हमके..!
कब ले कौनो अनहोनी क डर रहे,
ईहवें रहे द ना निकाल हमके..!!


हम जब भी डूबल चाहीला,
आकाश के ई नील गगनवा में,
न जाने काहें..!
ई घनघोर बदरा,
नाय़ बन के हमके बचा लेवेला..!!

हमरे मन क कमरा जवन कहिये से खाली पड़ल बा..!
ओके तहार क़दम क आहट भी, शोर जइनस लागेला..!!



आजु हम अपने आप से कुछ कहल चाहत तानी...!
बाहर त बहुत छलकनी अब अंदर ही बहल चाहत तानी...!!


उजाला आपन याद क हमरे साथ रहे द..!
न जाने कवने गली में जिनगी क शाम हो जाइ..!!


बिन बात के रूठे क आदत रहे,
केहू आपन क साथ पावे क चाहत रहे,
तु खुश रहअ, हमार का..!
हम त आइना हई,
हमके त टूटे क आदत हवे..!!


आँसू क समन्दर ख़रीदे में,हर सुकून गवां दिहली हम..!
ई दर्द का समा,बड़ी मुश्किल से कमइले बानी हम..!!


हम आउर हमार चाँद..
अक्सर अधियारी रतिया में..!
एक-दुसरा के बात में डूबके..
जागल करी ल जा रात भर..!!


कुछ फासला खाली आंख से होला,
बाकी दिल क फासला खाली बात से होला,!
केहू लाख भूले के कोशिश करे,
बाकी कुछ रिश्ता खतम खाली साँस से होला,!!



आपन मीठ नींद से छुट्टी लेके ,
ए दिल के हम जरा दिहली ..!
ना तू जनल ,ना हम समझली ,
कि के केकरा के सजा दिहलस..!!



ना अब मुड़ के देखा तु , ना कवनो आवाज़ दा हमके..!
बड़ी मुश्किल से सीखले हई, तहरा के भुलाये..!!


 

Latest Bhojpuri Lyrics with Video in Hindi Browse and Download links info. © 2015 - Designed by Raj, Plugins By Desi katta